मुंडे की मौत से हिली सरकार अब लाएगी नया सेफ्टी कानून


हलो यू पी ( 05 - 06- 2014 ) - दिल्ली की सड़क पर हुए हादसे में ग्रामीण विकास मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता गोपीनाथ मुंडे की मौत से सरकार हरकत में आ गई है। सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने ऐसे हादसों में कमी लाने के लिए और सड़कों को सुरक्षित बनाने के लिए एक बिल तैयार करने की कवायद शुरू कर दी है। गडकरी ने कहा कि वो एक महीने में इस बारे में बिल तैयार करेंगे। गडकरी ने आज प्रेसवार्ता में कहा कि देश में हर साल चार लाख 90 हजार सड़क हादसे होते हैं। हर साल इनमें 1 लाख 38 हजार लोग मारे जाते हैं। सरकार सड़कों पर ऐसी जगह चिन्हित करेगी जहां 10 से ज्यादा हादसे हुए हैं। ऐसी जगहों पर हादसे कम करने के उपाय किए जाएंगे। कुछ गाड़ियां पीछे से टक्कर में ट्रक के अंदर घुस जाती हैं। ऐसे हादसे रोकने के लिए ट्रक बनाने वाली कंपनियों से बात की जाएगी ताकि इन वाहनों में सुरक्षा उपाय किए जाएं। गडकरी ने कहा कि लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया को केंद्रीयकृत किया जा रहा है ताकि एक व्यक्ति के पास केवल एक ही ड्राइविंग लाइसेंस हो। अभी एक व्यक्ति कई-कई राज्यों से ऐसे लाइसेंस बनवाकर अपने पास रखता है। गडकरी ने कहा कि हम ब्रिटेन और दूसरे देशों के सुरक्षा कानून का भी अध्ययन करेंगे। एक महीने में ये अध्ययन कर बिल का ड्राफ्ट तैयार किया जाएगा और कड़ा कानून बनाया जाएगा। गडकरी ने कहा कि आज लोग यातायात के नियमों का पालन नहीं करते। सरकारी और पुलिस की गाड़ियां भी नियमों का उल्लंघन करती हैं। हम महत्वपूर्ण चौराहों पर कैमरे लगाएंगे ताकि दोषियों को पकड़ा जा सके। उन्होंने कहा कि इस कानून को बनाने में आम जनता भी सहयोग करे। सरकार की वेबसाइट पर इस बाबत सुझाव दिए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर राज्यों की कांफ्रेंस बुलाकर सबकी राय ली जाएगी।

इस सेक्‍शन से अन्‍य ख़बरें

वीडियो

आज का स्पेशल

वर्ल्ड रिकॉर्ड : 6 दिन और 5 रातों तक पढ़ाकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

विश्‍व में 85 धनकुबेरों के पास है दुनिया की आधी दौलत

विज्ञापन