जुलाई से बोलने लगेंगे सभी नये एटीएम, विकलांगो के लिए होगी विशेष सुविधा


हलो यू पी ( 22 - 05 - 2014 ) - मुंबई : देश में अब बोलने वाले एटीएम का दौर शुरु होने वाला है। अब देश में ऐसे एटीएम लगेंगे जिनका इस्तेमाल मूक-बाधिर और नेत्रहीन व्यक्ति भी प्रयोग कर सके। भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी वाणिज्यिक बैंकों से कहा है कि 1 जुलाई 2014 से स्थापित किए जाने वाले सभी एटीएम ब्रेल लिपि के कीपैड के साथ बोलने वाले होने चाहिए। इससे पहले अप्रैल 2009 में रिजर्व बैंक ने वाणिज्यिक बैंकों को सलाह दी थी कि बैंक शाखाओं और एटीएम विकलांग लोगों के अनुकूल होने चाहिए। साथ ही रिजर्व बैंक ने यह भी कहा था कि नए स्थापित होने वाले एटीएम में कम से कम एक तिहाई एटीएम ब्रेल लिपि वाले कीपैड के साथ बोलने वाले होने चाहिए। रिजर्व बैंक ने एक अधिसूचना में कहा, इसीलिए यह फिर से दोहराई जाती है कि बैंक 1 जुलाई 2014 से जो भी एटीएम लगाएं उसमें ब्रेल कीपैड हो और वह बोलने वाला हो।’ इसमें कहा गया है, बैंकों को सभी मौजूदा एटीएम को ब्रेल कीपैड के साथ बोलने वाले एटीएम में तब्दील करने के लिए खाका तैयार करना चाहिए और इसकी समीक्षा समय-समय पर की जा सकती है। आरबीआई ने वाणिज्यिक बैंकों से कहा है कि सभी मौजूदा और भविष्य में लगने वाले एटीएम में रैंप हों ताकि व्हील चेयर या विकलांग व्यक्ति वहां तक आसानी से पहुंच सकें। साथ ही एटीएम की ऊंचाई इतनी हो जिससे व्हील चेयर पर बैठा व्यक्ति आसानी से उसका उपयोग कर सकें। रिजर्व बैंक ने वाणिज्यिक बैंकों से उन लोगों के लिए सभी बैंक शाखाओं में मैग्नीफाइंग ग्लासेस की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कहा है जिन्हें कम दिखाई देती हैं।

इस सेक्‍शन से अन्‍य ख़बरें

वीडियो

आज का स्पेशल

वर्ल्ड रिकॉर्ड : 6 दिन और 5 रातों तक पढ़ाकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

विश्‍व में 85 धनकुबेरों के पास है दुनिया की आधी दौलत

विज्ञापन