वोडाफोन ने खरीदी टाटा कॉम की नियोटेल


हलो यू पी ( 19 - 05 - 2014 ) - टाटा कम्युनिकेशंस ने सोमवार को कहा कि उसने 3,950 करोड़ रुपये (7 अरब रैंड) में अपनी दक्षिण अफ्रीकी इकाई निओटेल की 67.3 फीसदी हिस्सेदारी ब्रिटेन की दिग्गज दूरसंचार कंपनी वोडाफोन की सहायक कंपनी वोडाकॉम को बेच दी है। लगभग 8 महीने पहले दोनों कंपनियां सौदे की संभावनाओं को खंगालने पर सहमत हुई थीं। इस सौदे के लिए स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक परामर्शदाता के तौर पर टाटा कम्युनिकेशंस के साथ जुड़ा रहा। इस सौदे के चालू वित्त वर्ष के अंत तक पूरा होने का अनुमान है और इससे वोडाकॉन को हाई-स्पीड इंटरनेट के लिए सबसे बड़ा ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क हासिल होगा। दोनों कंपनियों ने एक संयुक्त बयान में कहा, सौदे का स्वरूप और उसकी व्यावसायिक शर्तें नियामकीय और प्रतिस्पर्धा से संबंधित विभाग पर निर्भर होगा। सभी पक्ष इस संबंध में आवश्यक प्रक्रिया शुरू करेंगे। निओटेल दक्षिण अफ्रीका की दूसरी सबसे बड़ी फिक्स्ड लाइन फोन कंपनी है, जिससे 1.52 लाख ग्राहक और लगभग 1,000 कर्मचारी हैं। इस कंपनी की 19 फीसदी हिस्सेदारी नेक्सस कनेक्शन और 12.5 फीसदी हिस्सेदारी कम्युनिकेटल के पास है। वोडाकॉन के मुख्य कार्यकारी शमील जूसुब ने संवाददाताओं को बताया, पहले उन्हें कर्ज के मसले का समाधान निकालना है। हम वर्तमान कर्ज का अधिग्रहण करने नहीं जा रहे हैं। आईडीएफसी सिक्योरिटीज ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि निओटेल के बहीखातों पर फिलहाल कुल 4.8 अरब रैंड (मार्च 2014 तक) का कर्ज है, जबकि टाटा कम्युनिकेशंस को उससे कुल 12-14 करोड़ डॉलर (लगभग 2.2 अरब रैंड) शुद्ध आमदनी होती है। हालांकि टाटा कम्युुनिकेशंस इस सौदे से मिलने वाली रकम को अपने 11,976 करोड़ रुपये के कर्ज को चुकाने में भी इस्तेमाल कर सकती है। टाटा कम्युनिकेशंस के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी विनोद कुमार ने एक बयान में कहा, टाटा कम्युनिकेशंस इस सौदे से मिली रकम से खुश है। यह हमारे वित्तीय लक्ष्यों के अनुरूप है। इससे निओटेल को दक्षिण अफ्रीकी बाजार में अपने मूल्यांकन में सुधार करने में मदद मिलेगी। वोडाकॉम ने कहा कि वह इस सौदे के लिए अपनी नकदी और कर्ज के माध्यम से रकम का भुगतान करेगी। टाटा कम्युनिकेशंस ने सबसे पहले वर्ष 2006 में 25 करोड़ डॉलर का निवेश करके निओटेल की 26 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था। बाद में दूसरे निवेशकों की हिस्सेदारी खरीदकर टाटा कम्युुनिकेशंस कंपनी में बहुलांश शेयरधारक बन गई थी।

इस सेक्‍शन से अन्‍य ख़बरें

वीडियो

आज का स्पेशल

वर्ल्ड रिकॉर्ड : 6 दिन और 5 रातों तक पढ़ाकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

विश्‍व में 85 धनकुबेरों के पास है दुनिया की आधी दौलत

विज्ञापन