उप्र में जल्द दूर होगी रोडवेज बसों की किल्लत


हलो यू पी ( 12 - 05 - 2014 ) - लखनऊ : प्रदेश वासियों को रोडवेज बसों की किल्लत से जल्द ही मुक्ति मिल जाएगी। प्रदेश में 12 मई को होने वाले अंतिम चरण के मतदान के बाद चुनाव ड्यूटी में गई बसें 14 मई की अर्धरात्रि से आना शुरू हो जाएंगी। जिसके बाद ग्रीष्मकाल में प्रदेश वासियों को बसों की कमी से हो रही परेशानी दूर हो जाएगी। लोकसभा चुनाव की ड्यूटी में रोडवेज बसों के चले जाने से प्रदेशवासियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिसके कारण इस गर्मी में उन्हे एक तो देर से बसें मिल रही हैं वहीं जो बसें मिल भी रही हैं उसमें काफी भीड़ होती है। इसकी एक वजह शादी ब्याह के चलते यात्रियों का आवागमन काफी बढ़ जाना भी है। बस स्टेशनों का हाल यह है कि बस के इंतजार में लोगों को घण्टो इंतजार करना पड़ रहा है। यात्री पूछताछ केन्द्रों का चक्कर लगा रहे हैं लेकिन बसों की सही स्थिति का पता नहीं चल पाता है। अब जब स्कूल कालेजों में ग्रीष्मकालीन अवकाश शुरू होने जा रहा है तो रोडवेज बसों की मांग और भी बढ़ेगी। ऐसे में 14 मई से बसों की वापसी से यात्रियों को काफी राहत मिलेगी। गौरतलब है कि देश में हो रहे लोकसभा चुनाव 2014 को शांतिपूर्ण व निष्पक्ष कराने के लिए निर्वाचन आयोग को सुरक्षाकर्मियों को मतदान केन्द्र तक पहुंचाने के लिए रोडवेज बसों की आवश्यकता पड़ती है। इसी के तहत प्रदेश में चुनाव के लिए उ.प्र. राज्य सड़क परिवहन निगम से मार्च माह से रोडवेज बसों की मांग की गयी थी। पूरे प्रदेश में 6 चरणों के मतदान के लिए लगभग 5500 बसों की मांग की गई थी। आखिरी चरण का मतदान 12 मई को होना है। जिसके लिए 2419 बसों की ड्यूटी लगाई गई है। जिसमें केवल लखनऊ क्षेत्र से ही 207 बसों को भेजा गया।

इस सेक्‍शन से अन्‍य ख़बरें

वीडियो

आज का स्पेशल

वर्ल्ड रिकॉर्ड : 6 दिन और 5 रातों तक पढ़ाकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

विश्‍व में 85 धनकुबेरों के पास है दुनिया की आधी दौलत

विज्ञापन